प्रदेश के सर्वागिण विकास का छिन्दवाडा मॉडल पर आधारित व्याख्यान माला संपन्न

मंदसौर। प्रखर चिंतक एवं वरिष्ठ पत्रकार श्री भास्कर राव रोकडे द्वारा मंदसौर में प्रदेश के सर्वागिण विकास का छिन्दवाडा मॉडल विषय पर व्याख्यान माला का आयोजन किया गया। नवप्रभात युवा समिति द्वारा युवा नेता श्री सुरेन्द्र कुमावत एवं सामाजिक कार्यकर्ता श्री सुरेश भाटी के संयोजन में आयोजित इस व्याख्यान माला में मंदसौर नगर व उसके आसपास क्षेत्रो के सामाजिक कार्यकर्ताओं, गणमान्य नागरिको व राजनैतिक दलो के पदाधिकारियो ने सहभागिता कर विकास के छिन्दवाडा मॉडल से अवगत हुये। इस दौरान पूर्व विधायकगण श्री नवकृष्ण पाटील, श्रीमती पुष्पा भारतीय एवं सामाजिक कार्यकर्ता व योग गुरू श्री सुरेन्द्र जैन विशेष रूप से मंचासीन थे।
प्रखर चिंतक व वरिष्ठ पत्रकार श्री भास्कर राव रोकडे ने प्रदेश के विकास का छिन्दवाडा मॉडल पर प्रकाश उालते हुये कहा कि पिछले कुछ वर्षो पूर्व छिंदवाडा प्रदेश पिछडा जिला माना जाता था। पथरीली जमीन, कम उपज के कारण यहां के किसानो के लिये आर्थिक रूप से अधिक संभावनाये नही थी लेकिन कमलनाथजी के सांसद बनने के बाद विकास का दौर जो आया उसके बाद कुछ वर्षो में छिंदवाडा विकास के हर क्षेत्र में अग्रणीय हो गया है। श्री रोकडे ने कहा कि छिंदवाडा संसदीय क्षेत्र की परिस्थितियां मालवा व अन्य क्षेत्र की परिस्थितियो से बिल्कुल भिन्न है। इन भिन्न परिस्थितियो में श्री नाथ ने जीवटता का परिचय देते हुये जनकल्याण की दिशा में कदम उठाये है। उन्होनें अपने क्षेत्र के लिये किसी घोषणा का सहारा या फिर मुहर्त करने जैसा राजनैतिक कदम नही उठाया बल्कि सीधे रूप से कार्य और सिर्फ कार्य पर ध्यान दिया। श्री रोकडे ने छिन्दवाडा क्षेत्र में स्कील डेवल्पमेंट के मॉडल पर प्रकाश डालते हुये कहा कि यहां के युवाओ के साथ ही पारंपरिक रोजगार के लिये प्रशिक्षण कार्यक्रम चलाये जिसका असर यह है कि क्षेत्र के युवा गरिबी व बेरोजगारी से निकलकर आगे बढ रहे है। उन्होनें कुछ वर्षो पहले कमलनाथ के आने से पहले यहां की सामाजिक स्थिति का उल्लेख करते हुये कहा कि यहां पर पेयजल की समस्या के कारण कोई भी लडकी देने के लिये तैयार नही था लेकिन श्री नाथ ने पेयजल व सिंचाई की प्रभावी व असरकारक योजनाएॅ बनायी जिसके चलते आज पुरा छिन्दवाडा हर भरा है।
श्री रोकडे ने कहा कि प्रदेश के विकास के लिये छिन्दवाडा मॉडल लागु किया जाता है तो समाज के सभी वर्गो के लिये निश्ति रूप से लाभ होगा। उन्होनें अपनी पुस्तक छिन्दवाडा मॉडल का उल्लेख करते हुये कहा कि मेरी पुस्तक किसी भी राजनैतिक दल को लाभ देने नही बल्कि आम मतदाताओं को जगाने आयी है। सिर्फ घोषणाओं से नागरिको का विश्वास प्राप्त नही किया जा सकता है बल्कि योजनाएॅ बनाने के साथ ही उनका क्रियान्वयन बहुत जरूरी है। श्री नाथ ने दुरगामी सोच का परिचय देते हुये क्षेत्र के विकास के लिये जो कार्य किये है उसे देखकर सच्चे जनप्रतिनिधि को यहां के नागरिक बार‘- बार चुनेगे। अगर मंदसौर संसदीय क्षेत्र में भी यही प्रयोग किये जाये तो आगामी पांच सालो में यह क्षेत्र और भी उन्नति कर सकता है।
इससे पूर्व व्याख्यान माला में सहभागिता करते हुये पूर्व विधायक श्री नवकृष्ण पाटील ने कहा कि हम बार- बार छिन्दवाडा मॉडल के बारे में सुनते आये है लेकिन इस मॉडल को आज करिब से समझने का मौका मिलेगा। उन्होेनें श्री नाथ की दुरगामी सोच व व्यक्तित्व के उदाहरण देते हुये छिन्दवाडा मॉडल को अनुकरणीय बताया।
पूर्व विधायक श्रीमती पुष्पा भारतीय ने कहा कि श्री नाथ ने जो कार्य करवाये है अगर उसका पच्चीस प्रतिशत कार्य भी अगर कोई जनप्रतिनिधिग करवा ले तो वह हमेशा के लिये क्षेत्र मे अस्मरणीय बन जाये। उन्होनें सफल आयोजन के लिये श्री कुमावत व श्री भाटी को बधाई दी।
सामाजिक कार्यकर्ता व योग गुरू श्री सुरेन्द्र जैन ने कहा कि मैं व्याख्यान माला के लिये आयोजन समिति को बधाई देता हूं। मैं शुध्द रूप से स्वास्थ्य क्षेत्र में कार्य करता रहा हूं। मेरी कोशिश रहती है कि आम नागरिको को योग के माध्यम से सही दिशा दे सकूं।
इससे पूर्व स्वागत उदबोधन देते हुये कार्यक्रम संयोजक श्री सुरेन्द्र कुमावत ने रूपरेखा प्रस्तुत करते हुये छिन्दवाडा मॉडल पर अपने विचार रखे। इस दौरान उन्होनें श्री रोकडे का परिचय देते हुये छिन्दवाडा में हुये विकास कार्यो का उल्लेख किया।
व्याख्यान माला का शुभारंभ मॉ सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण व दीप प्रज्जवलन के साथ हुआ। प्रारंभ मे अतिथियो का स्वागत कार्यक्रम संयोजक श्री सुरेन्द्र कुमावत, श्री सुरेश भाटी, शहर कांग्रेस के कार्यवाहक अध्यक्ष श्री अजय लोढा, श्री राजेश घाटिया, दशपुर प्रेस क्लब के अध्यक्ष श्री नेमीचंद्र राठौर, पवन बंसल, विजय गुर्जर, सत्यनारायण चौहान, कमलेश सोनी लाला, विश्वास दुबे, बाबुभाई मंसुरी पिपलिया, फिरोज पठान, दुगेश चंदेल, सत्यम पाटीदार, भानुप्रतासिंह राणा, पत्रकार ब्रजेश आर्य, रमणीक पोखरना आदी ने किया।
इस अवसर पर श्री गोपालकृष्ण गौशाला अध्यक्ष श्री अनिल संचेती, डॉ स्वपनील ओझा, सामाजिक कार्यकर्ता श्री विनोद मेहता, श्री महेश दुबे, खेल प्रशिक्षक श्री गगन कुरील, सरोजसिंह सिसोदिया, सुनिता बंडी, राखी सत्रावला, नेहा धाकड, सीमा राठौर, वर्षा सांखला, पत्रकार मनीष पुरोहित, लोकेश पालिवाल, राहुल सोनी, मदन नागोरी, नितिन गेहलोत, दिनेश सत्रावला, मंडी व्यापारी गजेन्द्र धाकड, मनोज व्यास, रवि जायसवाल, सामाजिक कार्यकर्ता ब्रजेश मारोठिया, मनजीतसिंह मनी, देवेन्द्र मौर्य, जितेश जैन, सादीक गौरी, शिक्षाविद रमेश सेठिया, युवा नेता संजय राठौर, योगेन्द्र गौड, शुभम कुमावत, सुनिल बसेर, दशरथ राठौर, घनश्याम लोहार, फिरोज पठान बालागंज, धमेन्द्र रानेरा, उज्जवल सक्सेना, कमलेश गडिया, रिषभ कोठारी, विनोद शर्मा, सैययद आफताफ आलम, लोकेश जैन, मांगीलाल कुमावत, युवा नेता अंशाशु संचेती, जगदीश जटिया, राजेन्द्र सेठिया, शुभसिंह चौहान, मोहम्मद आसिफ, सुदीप पाटील, शंकरलाल पाटीदार, कोमलराम बगेरिया, गोपाल कुमावत, शेलेन्द्र चौधरी, शम्शु मंसुरी, सचिन जैन, भारतसिंह तोमर, सुनिल शर्मा, पंकज जोशी, अरविंद गुप्ता, आदर्श जोशी, राजेश बंधवार, विजेश इंडियन, भुवानीराम सेन, वकील बंजारा, वहीद जैदी, पुनमचंद्र कुमावत, कोमलराम बगेरिया, शोकत मेव, आशुतोष सोनी, राजकुमार पामेचा, आदी अनेक गणमान्य नागरिकगण उपस्थित थे। संचालन कार्यक्रम संयोजक सुरेश भाटी ने किया व आभार श्रमजीवी पत्रकार संघ के अध्यक्ष श्री प्रीतिपालसिंह राणा ने माना।

एलईटी प्रजेन्टेशन के माध्यम से रखा छिन्दवाडा मॉडल
व्याख्यान माला के दौरान आयोजन समिति द्वारा छिन्दवाडा में हुये विकास कार्यो पर आधारित वीडियो प्रदर्शन किया गया। आयोजन समिति की ओर से छिन्दवाडा विकास पर आधारित विडियो का प्रदर्शन करते हुये सरल एवं सारगर्भित रूप से उपस्थित गणमान्य नागरिको को छिन्दवाडा विकास मॉडल से जोडने की कोशिश की गयी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *