नगर हुआ गमगीन……खास से लेकर आम तक दादा को विदाई देने उमडे शहरवासी

मंदसौर। हर किसी की जुबा पर दादा की अच्छाई थी। सरल, सहज रूप से हर किसी खास से लेकर आम आदमी को उपलब्ध नगर पालिका अध्यक्ष प्रहलाद बंधवार की गुरूवार की शाम को गोली मारकर हत्या के घटना से हर कोई क्षुब्ध था। कल उनकी शवयात्रा रामटेकरी स्थित हनुमान नगर से निकली जिसमें हजारो की संख्या में उनके शुभचिंतको एवं प्रशंसको ने नम आंखो से शरिक हुये।
सुबह डॉक्टरो की पेनल द्वारा पीएम के उपरांत उनका शव लगभग 111.30 बजे उनके घर पहुंचा। लगभग 12.30 बजे उनके निवास से सजे वाहन में उनकी शवयात्रा हनुमान नगर से शुरू हुई। अलविदा दादा के शब्दो से सजी उनकी यात्रा में बडी संख्या में मंदसौर, नीमच एवं रतलाम जिले के भाजपा नेताओं की उपस्थिति तो थी ही साथ ही मंदसौर नगर के बडी संख्या में नागरिको उनके विदा करने शवयात्रा में शरिक हुये।
प्रारंभ से लेकर अंत तक चला श्रृध्दाजंलियो का दौर
नगर पालिका अध्यक्ष प्रहलाद बंधवार दादा की अंतिम यात्रा हनुमान नगर से शुरू हुई उसी के साथ विभिन्न संस्थाओं एवं नागरिको ने श्रृध्दाजंलिया देने का दौर शुरू हो गया। आम नागरिको ने अपने मकानो की शतो से पुष्पवर्षा की तो विभिन्न संगठनो ने जगह-जगह मंच श्रृध्दाजंलिया अर्पित की। उनकी शवयात्रा जिन- जिन मार्गो से गुजरी उन मार्गो पर सैकडो की संख्या में उनके दर्शन के लिये नागरिक खडे दिखायी दिये।
सजे धजे वाहनो में भाजपा जनप्रतिनिधिगण हुये सवार
प्रहलाद दादा की अंतिम यात्रा के दौरान सजे धजे वाहन में सांसद सुधीर गुप्ता, विधायक यशपालसिंह सिसोदिया, पूर्व मंत्री जगदीश देवडा, मंदसौर नगर के दक्षिण मंडल अध्यक्ष संजय मुरडिया, उत्तर मंडल अध्यक्ष नरेश चंदवानी के अलावा उनके पुत्र नरेन्द्र बंधवार, बडे भाई ब्रदीलाल बंधवार छोटे भाई जगदीश बंधवार के अलावा उनके नजदीकी शुभचिंतक सवार थे। इस दौरान पुरे मार्गो पर हर कोई दादा को देखने के लिये खडा था।
संतो के लिये बनवाया मुक्तिधाम उसी मे हुआ अंतिम संस्कार
हर संयोग ही कहा जायेगा कि नगर पालिका अध्यक्ष प्रहलाद बंधवार ने मुक्तिधाम के पास गुप्तानंद आश्रम के पीछे संतो के लिये नवीन मुक्तिधाम प्लेटफार्म बनवाया था। उनकी मंशा यह थी कि यहां पर संतो का अंतिम संस्कार हो लेकिन ईश्वर की इच्छा ही मानो या दुखद प्रसंग की संतो के लिये बनाये गये पक्के प्लेटफार्म पर ही उनका अंतिम संस्कार हुआ।
मुक्तिधाम पर पहुंचे शिवराज, हजारो की संख्या में गणमान्य थे मौजुद
नगर पालिका अध्यक्ष प्रहलाद बंधवार को अंतिम विदाई देने हेतु स्वयं प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान मंदसौर आये। इसके अलावा पूज्य संत रामानुदाचार्यजी, जावरा विधायक राजेन्द्र पांडेय, गरोठ विधायक देवीलाल धाकड, जावद विधायक ओमप्रकाश सकलेचा, नीमच विधायक दिलीपसिंह परिवार, पूर्व मंत्री कैलाश चावला, मनासा विधायक माधव मारू, जावरा नगर पालिका अध्यक्ष अनिल दसेडा, सुवासरा विधायक हरदीपसिंह डंग,जिला कांग्रेस अध्यक्ष प्रकाश रातडिया, पूर्व मंत्री नरेन्द्र नाहटा, विधायक श्री नवकृष्ण पाटील, प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष श्री राजेन्द्रसिंह गौतम, प्रदेश कांग्रेस महामंत्रीगण श्री मुकेश काला, श्री राजेश रघुवंशी, प्रदेश युवा कांग्रेस महासचिव श्री सोमिल नाहटा, शहर ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष श्री मोहम्मद हनिफ शेख, जिला कांग्रेस कार्यवाहक अध्यक्षगण इस्माईल मेव, शाकेरा खेडीवाला, कांग्रेस नेता श्यामलाल जोकचंद्र, जिला कांग्रेस प्रवक्ता सुरेश भाटी, सहित हजारो की संख्या में विभिन्न संगठनो के पदाधिकारी, सामाजिक कार्यकर्ता एवं नागरिकगण उपस्थित थे।
चप्पे-चप्पे पर रही पुलिस तैनात
नगर पालिका अध्यक्ष श्री प्रहलाद बंधवार की हत्या के बाद से ही पुरे मंदसौर शहर में पुलिस तैनात हो गयी थी। हत्या के आरोपी का खुलासा होने के बाद हालांकि शहर शांत था लेकिन उसके बावजुद मंदसौर शहर के विभिन्न मार्गो पर पुलिस तैनात रही। उनकी शवयात्रा के मार्ग में बडी संख्या में पुलिस तैनात रही जो व्यवस्था बनाती दिखी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

एक नजर