बांछड़ा समुदाय की महिलाओं के बीच पहुंचे एस पी राकेश कुमार सगर और मनाया गया अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस कार्यक्रम



नीमच-पुलिस अधीक्षक नीमच के सहयोग से नया जीवन ज्ञान प्रचार सेवा समिति(एनजीओ),नीमच द्वारा बांछड़ा समुदाय की महिलाओं के बीच अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस कार्यक्रम का आयोजन किया गया।जिसमें मुख्य अतिथि में पुलिस अधीक्षक राकेश कुमार सगर, जिला पंचायत मुख्य कार्यपालन अधिकारी कमलेश भार्गव, महिला बाल विकास अधिकारी रेलम बघेल, मनासा थाना प्रभारी संदीप तोमर, व कुकड़ेश्वर थाना प्रभारी उपस्थित रहें। कार्यक्रम की शुरुआत में बांछड़ा समुदाय के बालक और बालिकाओं द्वारा डांस व गीत द्वारा सांस्कृतिक प्रस्तुति दी गयी।कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए पुलिस अधीक्षक महोदय द्वारा अपने अवबोधन में बताया गया कि मेरा उद्देश्य है कि हम सभी जिम्मेदारी से काम करें व गहन चिंतन करे कि समाज सबसे बडी ईकाई है। राष्ट्रीय बिना समाज उधूरा है । अच्छे राष्ट्र की चर्चा करे तो सबसे महत्वपूर्ण है शिक्षा, संविधान निर्माताओ ने घहन चिंतन किया है और महिलाओं को राष्ट्र के कार्यों में जगह दि गई है। और मेरी भी जिम्मेदारी बनती है की मे आपके बीच आऊ और आपको मुख्यधारा से जोड़ने के लिए प्रेरित करने का कार्य करूँ।इसमें आप भी पुलिस का सहयोग करें और समाज की कुरीतियों और अवैध गतिविधियों को छोड़कर सम्मानजनक जीवन जीने के लिए आगे आये। आप में कोई कमी नहीं है। जिंदगी और समाज को जितना करीब से इन महिलाओं ने देखा है उतना शायद किसी ओर महिलाओं ने नहीं देखा होगा। अपने आप को ओर अपने भीतर की शक्ति को पहचाने और आगे बढ़े, हम आपका साथ देंगे। हर परिस्थिति से लड़ने के लिए सबसे बड़ा हथियार है शिक्षा, बेटियों को पढ़ाए ताकि समाज का नाम रोशन कर सके। जिला पंचायत मुख्य कार्यपालन अधिकारी कमलेश भार्गव द्वारा अपने उद्बोधन में बताया गया कि इस समाज की महिलाएं देहव्यापार जैसे अनैतिक कार्यों को छोड़ समाज की मुख्यधारा में जुड़ने के लिए आगे आये ताकि बांछड़ा समुदाय भी सम्मान का जीवन जी सके। महिला बाल विकास अधिकारी श्रीमति रेलम बघेल द्वारा अपने भाषण में बांछड़ा समुदाय की महिलाओं को सम्बोधित करते हुए बालिकाओं की शिक्षा पर जोर देते हुए बताया गया कि समाज की कुरीतियों को दूर करने के लिये बालिकाओं को उच्च शिक्षा देना जरूरी हैं ताकि ये बालिकाएं पढ़कर अपने ही गाँव हार्डी पिपलिया की टीना मालवीय जो अभी एमपी.पी.एस.सी. पास कर नायब तहसीलदार बनी हैं उसके जैसा नाम रोशन कर सकें।साथ ही अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस कार्यक्रम में अतिथि के रूप में उपस्थित टीना मालवीय जो वर्तमान में एमपी.पी.एस.सी. पास करके नायब तहसीलदार बनकर बांछड़ा समाज का नाम रोशन करने वाली समाज की इस बेटी का पुलिस अधीक्षक द्वारा सम्मान किया गया।  टीना मालवीय ने समुदाय की महिलाओं और युवतियों को अपने उद्बोधन में बताया गया कि आप भी अपने बेटियों को पढ़ाकर समाज की देहव्यापार जैसी कुप्रथा को समाप्त किया जाये ताकि आप भी समाज में सम्मान का जीवन जी सकें। साथ ही सभी अतिथियों व उपस्थित लोगों के बीच टीना मालवीय ने अपने जीवन की गाथा को सभी के सामने शेयर किया गया। जिसे सुनकर कई युवतियां प्रोत्साहित हुई। और जो लड़कियां पढ़ाई कर रही हैं उन्होंने प्रेरणा ली कि हम भी पढ़कर उच्च पद पर जा सकती हैं। साथ ही टीना मालवीय द्वारा समुदाय में युवाओं की आर्थिक स्थिति को देखते हुए पुलिस अधीक्षक महोदय से उच्च शिक्षा के लिए मदद की गुहार लगाई गई जिसका पुलिस अधीक्षक महोदय द्वारा आश्वासन दिया गया कि इस समुदाय के युवाओं की मेरे द्वारा मदद की जाएगी जिसका समुदाय के सभी लोगों ने तालियों के साथ स्वागत किया। कार्यक्रम के अंत मे एस पी सर द्वारा कार्यक्रम में उपस्थित सभी लोगों को चुनाव आचार संहिता का पालन करने की शपथ दिलाई गई।नया जीवन ज्ञान प्रचार सेवा समिति (एनजीओ) के अध्यक्ष शमील चौहान द्वारा सभी अतिथियों का आभार व्यक्त करते हुए बताया गया कि बांछड़ा समुदाय के विकास के लिये हम युवाओं द्वारा संस्था (एनजीओ) का गठन करके समाज को मुख्यधारा में लाने के लिए शिक्षा, स्वास्थ्य और रोजगार से जोड़ने का जो अभियान चलाया जा रहा है उसमें यदि शासन/प्रशासन के आला अधिकारी निरन्तर सहयोग प्रदान करेंगे तो समाज बहुत ही जल्द विकास की ओर अग्रसर हो जायेगा।

ReplyForward

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *