राजस्थान के तस्कर नारकोटिक्स विंग नीमच की गिरफत में


मंदसौर। मध्यप्रदेश पुलिस नारकोटिक्स शाखा द्वारा संपुर्ण मध्यप्रदेश में अवैध मादक पदार्थ के विरूद्ध चलाये जा रहे ऑपरेशन शिंकजा अभियान के तहत मादक पदार्थ की जप्ती के लिये कार्यवाही संचालित की जा रही है। इस अभियान में निरंतर सफलता प्राप्त हो रही है। इस संपूर्ण यांेजना को मर्तरूप देने वाली नारकोटिक्स शाखा के श्री अजय कुमार शर्मा, अतिरिक्त पुलिस महानिर्देशक नारकोटिक्स मुख्यालय भोपाल के निर्देशन तथा श्री जी जी पाण्डे पुलिस महानिरीक्षक नारकोटिक्स विंग इंदौर के मार्गदर्शन एवं श्रीमती मीना चौहान शर्मा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक नारकोटिक्स प्रकोष्ठ मंदसौर के नेतृत्व में नारकोटिक्स शाखा की नीमच ईकाई द्वारा कार्यवाही को अंजाम दिया गया जिसमें अवैध मादक पदार्थ अफीम को जप्त करते हुए आरोपियों को गिरफतार किया गया।
इस प्रभावी कार्यवाही की विस्तृत जानकारी देते हुए नारकोटिक्स शाखा के अतिरिक्त पुलिस महानिर्देशक श्री अजय कुमार शर्मा ने बताया कि दिनांक 19 अप्रैल 19 को उपनिरिक्षक मोहम्मद रउफ खान प्रभारी नारकोटिक्स प्रकोष्ठ नीमच को मुखबिर सूचना प्राप्त हुयी थी कि आरोपी लाभचंद्र पिता भोलीराम धाकड ग्राम हडमतिया जागीर थाना छोटी सादडी, जिला प्रतापगढ राज. का उसकी मोटर साईकल नीले रंग की पल्सर आर जे 09 डीएस 6824 से अपने साथी नितेश पिता गणपतलाल आंजना निवासी ग्राम केेसुदा तहसील छोडीसादडी जिला प्रतापगढ राज. के साथ मिलकर अवैध मादक पदार्थ अफीम 02-03 किलो लेकर ग्राम केसुदा से तेलनखेडी बघाना होते हुए या केसुदा से सुबी कच्चे रास्ते से बाधना होते हुए फोरलेन पर किसी ट्रक चालक को अफीम देने वाला हे। उक्त मुखबिर सूचना पर कार्यवाही करते हुए आरोपीयों के कब्जे से अवैघ मादक पदार्थ अफीम 2 किलो 400ग्राम विधिवत जप्त कर आरोपीयों को गिरफतार किया गया व अपराध क्रमांक 27/19 धारा 8/18 एनडीपीएस एक्ट का दर्ज कर प्रकरण को विवेचना में लिया गया है आरोपीयों से जप्तशुदा अवैध मादक पदार्थ अफीम की अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कीमत 480000 रू आंकी गयी हैैं। यदि आरोपीयों को गिरफतार नही किया जाता तो वह निश्चित ही अफीम की तस्करी करते तथा आगे चलकर बडे स्तर पर अफीम की तस्करी के धंधे में लिप्त हो जाते।

Share this:

172 thoughts on “राजस्थान के तस्कर नारकोटिक्स विंग नीमच की गिरफत में

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *