पुलिस चैकिंग से अपराधियो की बजाय आम जनता में खौफ, चालानी के नाम पर वसुली जारी

मंदसौर। पिछले कुछ समय से मंदसौर शहर में अनेक हत्याकांड एवं बडी वारदात की घटनाये हुई उसके बाद पुलिस से यह उम्मीद थी कि अपराधियो पर नकेल कसने के लिये प्रभावी उपाय करते हुये आम जनता में विश्वास बहाली का कार्य करेगी। जनता की यह उम्मीद पिछले दो माह से न केवल निराशा में तब्दील हो गयी है बल्कि पुलिस द्वारा वाहन चैकिंग के नाम पर अपनाये जा रहे तरिको से आम नागरिको में पुलिस का खौफ बन रहा है। पिछले कुद दिनो से मंदसौर शहर में अनेक जनप्रतिनिधियो एवं गणमान्य नागरिको को परेशान करने का कार्य चल रहा है जिसके चलते आम नागरिको में वाहन चैकिंग कार्य में लगे पुलिसकर्मियो के कारण जाने- अनजाने ही सही आम नागरिक कांग्रेस सरकार को कोसते दिखायी दे रहे है।
मिली जानकारी अनुसार वर्तमान में पुलिस ने श्री कोल्ड चौराहा, बीपीएल चौराहा, यातायात थाने के अलावा मंदसौर शहर में प्रवेश द्वार के साथ- साथ मंदसौर नगर में भी चेकिंग पाइंट लगाकर वाहन चैकिंग की जा रही है। वाहन चैकिंग भले ही वाहन चोरो के खिलाफ प्रभावी हथियार हो लेकिन वर्तमान में मंदसौर शहर एवं मंदसौर नगर मे आने वाले ग्रामीणो के लिये बडी परेशानी बनती दिख रही है।
सभी कागज होने के बावजुद किसी न किसी बहाने चालान बनाने की कोशिश
जानकारी के अनुसार वर्तमान चैकिंग पाइंट पर तैनात पुलिसकर्मी यातायात थाने की बजाय शहर कोतवाली एवं वायडीनगर सहित अनेक थानो का स्टॉफ है जो वाहन चालक द्वारा आरसी, ड्राईविंग लायसेंस एवं बीमा दिखाने के बावजुद हेलमेट के नाम पर तो कभी नंबर प्लेट में गलती दिखाकर चालानी कार्यवाही करनी की धमकी देकर वसुली की जा रही है। प्रतिदिन मंदसौर शहर में आने वाले एवं मंदसौर शहरवासी पीडित और प्रताडित हो रहे है।
अनेक पार्षद हुये परेशान, कांग्रेस नेता ने किया जमकर विरोध
पिछले पंद्रह दिनो के भीतर मंदसौर शहर में अनेक ऐसी घटनाये सामने आयी है जिसमें मंदसौर शहर के अनेक गणमान्य नागरिको को भी जांच के नाम पर परेशान किया गया। मंदसौर शहर के अनेक पार्षद भी पुलिस चेकिंग के नाम पर प्रताडित हो चुके है। सोमवार को पिछले तीन दिन पूर्व लगाये गये वाहन चैकिंग अभियान के दौरान पत्रकार एवं जिला कांग्रेस के प्रवक्ता सुरेश भाटी द्वारा सभी कागजात दिखाने के बावजुद हेलमेंट का बहाना बनाकर चालानी कार्यवाही करने की कोशिश की जिस पर श्री भाटी ने जमकर डयुटी पर तैनात एसआई विजयशंकर यादव से बहस करते हुये इसका विरोध किया। इस दौरान शहर के गणमान्य नागरिक भी मौके पर जमा हो गये जिन्होनें पुलिस की मनमजी का विरोध किया।
केवल वाहन चेकिंग पर ही निर्भर पुलिस, सटोरियो को खुला प्रक्षय
मंदसौर शहर कोतवाली पुलिस द्वारा वाहन चेकिंग अभियान को अवैध वसुली का माध्यम बना लिया गया है। मंदसौर शहर के मदारपुरा, खानपुरा सहित अनेक क्षेत्रो में सटोरिये पुलिस के साथ गठजोड कर सट्टा चला रहे है लेकिन पुलिस द्वारा सटोरियो पर कार्यवाही की बजाय सीधे- सादे आम नागरिको को परेशान किया जा रहा है। अपराधी इतने सीधे नही है कि वे पुलिस चेक पाइंट से निकलेगे ऐसे में पुलिस वाहन चैकिंग केवल आम नागरिको को पीडित करने वाली साबित हो रही है।
आरोपी एसआई की सीएम हेल्प लाईन में हुई शिकायत
मैने एसआई की कार्यप्रणाली की शिकायत पुलिस के आला अधिकारियो से करने के साथ ही सीएम हेल्प लाईन में शिकायत डाली है। पुलिस की कार्यप्रणाली के चलते आम नागरिको को परेशानी हो रही है जिसे स्वीकार नही किया जा सकता है।
सुरेश भाटी
प्रवक्ता
जिला कांग्रेस मंदसौर

चेकिंग जरूरी, कोई भी शिकायत है तो मिल सकते है
आपकी समस्या सुनी जायेगी, वाहन चैकिंग जरूरी है, अगर कोई समस्या है तो आकर मिल सकते है।
शेलेन्द्र चौधरी
पुलिस अधीक्षक, मंदसौर जिला

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

एक नजर