अभियान को जनभागीदारी से जोड़े, ग्राम पंचायत स्तर से होगा काम



मंदसौर। जनशक्ति अभियान के नोडल अधिकारी एवं संयुक्त सचिव श्री विवेक कुमार देवांगन की अध्यक्षता में जल संसाधन से जुड़े सभी विभागों की संयुक्त बैठक कलेक्ट्रेट भवन सभाकक्ष में प्रातः 11 बजे आयोजित की गई। यह अभियान केंद्र सरकार का अभियान है, जिसके माध्यम से ऐसे जिले जहां पर पेयजल को लेकर, जल स्तर को लेकर भविष्य में विकट समस्या उत्पन्न हो सकती है। उन जिलों के लिए यह अभियान चलाया जा रहा है। बैठक के दौरान उन्होंने बताया कि इस अभियान का मुख्य लक्ष्य जिले के घटते हुए जल स्तर को रोकना है एवं इसके जल स्तर को बढ़ाना है। इस अभियान के तहत कार्य करके, कार्य पूर्ण होने के पश्चात यह देखना है, कि वर्तमान में कितना जल स्तर है एवं अभियान के माध्यम से कितना जल स्तर बढ़ा है। इस कार्य के लिए सभी विभाग एवं जनअभियान को इसमें जोड़ने की जरूरत है। इस अभियान को ग्राम स्तर पर पंचायत के माध्यम से सचिव एवं सरपंच को जोड़ा जाएगा। आम लोगों तक जागरूकता का प्रचार करना है कि, किस तरह से जल को संरक्षित किया जा सकता है। आम नागरिक के जुड़ने से ही इस अभियान को सफलता प्राप्त होगी। बैठक के दौरान संयुक्त सचिव श्री विवेक कुमार देवांगन, स्टील मिनिस्ट्री के संचालक श्री नीरज अग्रवाल, केंद्रीय जल संस्थान के उप संचालक श्री एपी कंडयाल, कलेक्टर श्री मनोज पुष्प, जिला पंचायत सीईओ श्री सिंघल, वनमंडल अधिकारी, अपर कलेक्टर श्री डामोर, सहित पी एच ई, आर ई एस, जल संसाधन, कृषि, विभाग, उद्यान विभाग, सभी सीईओ सहित भूजल स्तर से जुड़े सभी अधिकारी मौजूद थे।
आगामी बैठक में जनभागीदारी को कैसे जोड़ा जाए इस पर होगा मंथन
बैठक के दौरान उन्होंने बताया कि जल शक्ति अभियान की जो आगामी बैठक होगी। उस बैठक में जनभागीदारी को इस अभियान से कैसे जोड़ा जाए, इस पर चर्चा होगी। इस अभियान में एनजीओ, स्वसहायता समूह, कॉलेज के विद्यार्थी, एनसीसी कैडेट को भी जोड़ने के लिए सभी विभाग एवं प्रशासन प्रयास करें। पहली प्राथमिकता में वन क्षेत्र पर सबसे अधिक फोकस करना है। कम होते वनों को बढ़ाना है। इसके लिए वन मंडल अधिकारी विशेष तौर पर ध्यान देवें।

Share this:

129 thoughts on “अभियान को जनभागीदारी से जोड़े, ग्राम पंचायत स्तर से होगा काम

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *