साध्वी श्री अनंतगुणाश्रीजी मसा चातुर्मास हेतु रूपचांद आराधना भवन में हुआ मंगल प्रवेश, चल समारोहा निकाला


मंदसौर। श्री केशरिया मसा आदि ठाणा 10 का चातुर्मास रूपचॉद आराधना भवन चौधरी कॉलोनी में होगा। साध्वीजी व उनके साथ 9 अन्य साध्वियों का कल सोमवार को चातुर्मास हेतु भव्य मंगल प्रवेश हुआ। साध्वीजी के मंगल प्रवेश में मुनिसागरजी मसा व पवित्रसागरजी मसा ने भी सहभागिता कर श्रीसंघ को आशीर्वाद प्रदान किया।
साध्वी श्री अनंतगुणाश्रीजी मसा के साथ रूपचॉद आराधना भवन में चार माह तक साध्वीयों श्री अनंतकिर्तीश्रीजी मसा साध्वी श्री सुप्रसन्नाश्रीजी मसा, श्री राजुप्रसन्नाश्रीजी मसा, श्री आत्मप्रसन्नाश्रीजी मसा, परमप्रसन्नाश्रीजी मसा, श्री मनप्रसन्नाश्रीजी मसा, श्री प्रसन्नाश्रीजी मसा, श्री रितीप्रसन्नाश्रीजी, श्री राजप्रसन्नाश्रीजी भी विराजेगी तथा चार माह तक धर्म की प्रभावना करेगी।
साध्वीगणों के चातुर्मास प्रवेश हेतु सोमवार को शुगन गार्डन स्थित तिरूपति नगर से भव्य मंगल प्रवेश चल समारोह निकाला गया। प्रवेश के पूर्व शगुन गार्डन में अजित कुमार मनीष कुमार , पर्व कुमार भण्डारी परिवार के द्वारा नवकारसी का आयोजन किया गया। इसमें बडी संख्या में श्रीसंध से जुडे धर्मालुजनों व नगर के गणमान्य नागरिकों ने सहभागिता की। बेण्ड बाजे के साथ तिरूपति नगर से प्रारंभ हुआ यह चल समारोह नई आबादी के प्रमुख मार्गो आदिनाथ विहार होते हुए चौधरी कॉलोनी स्थित रूपचॉद आराधना भवन पहुॅचा।मार्ग में अनेक स्थानों पर धर्मालुजनों ने साध्वीजी के चातुर्मास प्रवेश पर गहुलिया की और चल समारोह में शामिल संतश्री व साध्वीगणों से आशीर्वाद प्राप्त किया। चल समारोह में महिलाओं व युवतियो ने गरबा नृत्य कर चातुर्मास प्रवेश पर अपनी प्रसन्नता व्यक्त की। महिलाओं ने सिर पर कलश धारण करते हुए भी चल समारोह की शोभा बढायी रूपचॉद आराधना भवन पहुॅचकर यह चल समारोह विशाल चल समारोह विशाल धर्मसभा में परिवर्तित हुआ। यहां स्वामीवात्सल्स के लाभार्थी परिवार रणजीतसिंह सरेन्द्रकुमार हितेश कुमार भण्डारी परिवार व नवकारसी के लाभार्थी अजित कमार मनीष कुमार पर्व भण्डारी परिवार (साध्वी श्री आत्मप्रसन्नाश्रीजी मसा का संसारिक परिवार) का श्रीसंघ के द्वारा शॉल श्रीफल भेटकर बहुमान किया गया।
धर्मसभा में साध्वी श्री सुप्रसन्नाश्रीजी मसा ने चातुर्मास की महत्ता बताते हुये स्वभाव परिर्वतन का शंखानांद विषय पर व्याख्यान देते हुए कहा कि जैन धर्म ही नही अपितु भारतीय भूमि भक्ति व धर्म आराधना पुरे माह तक पुण्य कर्म का बेलेन्स बनाये रखती है। प्रभु महावीर सहित सभी 24 तीर्थकरों ने चातुर्मास की चार माह की अवधि को महत्वपूर्ण माना है। यह केवल ़ऋतु परिवर्तन का काल नही बल्कि स्वभाव परितर्वन करने का अवसर प्रदान करने वाला काल है। चार माह में की गयी धर्मआराधना एकऔर हमे आत्म चिन्तन का अवसर देती है तो दूसरी और हमें पापकर्मो से भी दूर रखती है। चातुर्मास के चार माह का समय भौतिकवाद से दूर रहने व धर्म से जुडने का भी अवसर देता है। आवश्यकता यह है कि हम इस अवसर का कितना लाभ ले पाते है । आज जो धर्मालुजन की संख्या दिखायी दे रही है वह चार माह तक बनी रहे और यहा जो आये है वे चार माह तक प्रतिदिन प्रवचन, प्रतिक्रमण आदि धार्मिक गतिविधयों में भी भागीदारी करे। धर्मसभा में मुनि रत्नसागरजी व पवित्ररत्न सागर मसा ने भी अपने विचार रखे।
धर्मसभा में अन्य साध्वियों ने भी अपने विचार रखे। धर्मसभा में श्रीसंघ अध्यक्ष श्री दिलीप डांगी ने अपने विचार रखते हुए श्रीसंघ से जुडे सभी परिवारों व नगर के गणमान्य नागरिकों से चातुर्मास गतिविधियोंमें बढचढकर भागीदारी करने की अपील की। धर्मसभा में चातुर्मास समिति अध्यक्ष मनोज जैन ने आगामी समय में होने वाली गतिविधियों पर प्रकाश डाला। धर्मसभा का संचालन श्रीसंघ के संयोजक प्रवीण मुरडिया ने किया तथा आभार ट्रस्ट सचिव संदीप धंीग ने माना।
ये धर्मालुजन हुये चल समारोह में शामिल- चातुर्मास प्रवेश के अवसर पर निकले चल समारोहह में श्रीसंघ अध्यक्ष दिलीप डांगी, सचिव संदीप घंीग, कोषाध्यक्ष छोटेलाल जैन, चातुर्मास समिति अध्यक्ष मनोज जैन, सचिव पंकज खटोड, कोषाध्यक्ष रोहित संधवी, जैन श्वेताम्बर मूर्तिपूजक श्रीसंघ के पूर्व अध्यक्ष विरेन्द्र भण्डारी, संजय मुरडिया, कमल कोठारी, सकल जैन समाज अध्यक्ष लोकेन्द्र धाकड, संयोजक सुरेन्द्र लोढा, महामंत्रीगण विनोद मेहता, राकेश जैन भाजपा जिला मंत्री हिम्मत डांगी, समाजसेवी निर्मल सुराना, विजय सुराना, जिला कांग्रेस अध्यक्ष प्रकाश रातडिया, अप्रेश भण्डारी, कपिल भण्डारी, सरमथमल हवेली वाला, पारसमल जैन, अभय पोखरना, सुरेन्द्र भण्डारी, हितेश भण्डारी, प्रमोद जैन नपा, शरद धींग, कांतिलाल रातडिया, शिखर धींग, विमल जैन छिगावंत, संजय दक जिपं, राजकुमार डोसी, अभय डोसी, रिखब बिल्लोदिया, रखबचंद्र किर्लोस्कर, लक्ष्मीनारायण भण्डारी, हिम्मत लोढा, प्रदीप लोढा, जेके जैन, अनिल डांगी, पुलकित डांगी, प्रकाशचंद डोसी, सुरेन्द्र कोलन, राकेश दुग्गड, चेतन खमेसरा, सचिन पाटनी, शेलेश पोरवाल, सुरेन्द्र जैन, गौरव खिमेसरा, रमेश जैन डालर, विनोद पोरवाल डीएन, बाबुलाल जैन नगरीवाला, योगेश जैन रठाना वाला, रमेश जैन, गौतमलाल हडपावत,, अशोक जैन, रितेश भगत, शिखर कासमा, विकास भण्डारी, अजित नाहर, नवयुवक मण्डल अध्यक्ष शरद सालेचा,सचिव राजेश पामेचा सहित कई गणमान्य नागरिकगण भी उपस्थित थे।
23 श्रीसंध आये प्रवेश में- धर्मसभा व प्रवेश समारोह में इंदौर, रतलाम, भवानी मण्डी, पिपलियामण्डी, सुवासरा, धसोई, मुम्बई, अहमदाबाद, नीमच, जावरा, नामली, कुडवेश्वर, खाचरोद, सैलाना, नागदा, प्रतापगढ, बडोद,सीतामउ, अरनोद, शाजपुर, शुजालपुर, सरदारपुरा सहित 23 श्रीसंघो के प्रतिनिधि शमिल हुये।
इन्होने लिया काम्बली ओडाने व गुरूपूजा की बोली का लाभ- धर्मसभा में साध्वीजी को काम्बली ओडाने व प्रथम गुरूपूजाकरने की बोली भी लगायी गयी। जिसका लाभ क्रमश दिलीप कुमार गोटवाला परिवार भवानीमण्डी, व जैन काम्पलेक्स परिवार अरनोद ने लिया।

Share this:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *