प्रभारी मंत्री कराडा ने सुनी ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्षो की पीडा, अनेक विभागो के अधिकारियो का पुलिंदा सौपा संगठन से सत्ता है दूर, कार्यकर्ताओं की अब नही तो कब होगी सुनवाई

( सुरेश भाटी)

मंदसौर। प्रदेश में पंद्रह सालो के उपरांत सत्ता का वनवास कांग्रेस ने स माप्त किया है। मंदसौर संसदीय क्षेत्र में गांधीवादी दीदी की छाप वाले संगठन ने तमाम कोशिश करते हुये चुनाव में हर संभव कार्य तो किया लेकिन क्षेत्र की जनता ने भाजपा जनप्रतिनिधियो के कार्यो को क्लिन चीट देते हुये फिर से अवसर प्रदान कर दिये। प्रदेश में सरकार बनने के उपरांत लगातार संगठन की अवहेलना के आरोपो के बीच मुख्यमंत्री कमलनाथ के आदेशानुसार अब प्रभारी मंत्रियो ने संगठन की आवाज को सुनना मंजुर शायद इसलिये कर लिया है कि उन्हें इस बात का आभास हो गया है कि सत्ता द्वारा संगठन की अवहेलना का मामला गले- गले आ चुका है जिसे अब टाला नही जा सकता है। इस बीच मंदसौर जिले के प्रभारी मंत्री हुकुमसिंह कराडा ने निरंतर कडक मिजाजी के कारण बिफर रहे ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्षो की न केवल पीडा सुनी बल्कि उनके द्वारा विभिन्न विभागो के अधिकारियो द्वारा की जा रही मनमानी के किस्से सुनते हुये आगामी दिनो में अनेक अधिकारियो की रवानदगी का मानस बना लिया है।

कांग्रेस सूत्रो से मिली जानकारी अनुसार बुधवार की दोपहर को मंदसौर जिले के प्रभारी मंत्री हुकुमसिंह कराडा ने मंदसौर जिले के ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्षो की बैठक ली। इस बैठक में जिले के लगभग सभी ब्लॉको के अध्यक्षो ने सहभागिता करते हुये निरंतर विभिन्न विभागो के अधिकारियो द्वारा आम नागरिको एवं कार्यकर्ताओं के कार्यो को तवज्जो नही देने का मुद्दा पहली बैठक के समान उठाया। अधिकांश ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्षो ने शिक्षा विभाग, पुलिस विभाग, स्वास्थ्य विभाग एवं जिला पंचायत से जुडे अधिकारियो एवं कर्मचारियो के किस्से एवं घटनाक्रम सिलसिलेवार ढंग से प्रभारी मंत्री के समक्ष रखे।

कारपेंटर रहे मुख्य निशाने पर

बैठक के दौरान मंदसौर ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष एवं नपा अध्यक्ष सहित अनेक ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्षो द्वारा जिले से जिले में स्थानांतरण हेतु अध्यापको के तबादलो के आवेदनो पर कार्यवाही नही करने की पीडा बयां की। कांग्रेस नेताओं के अनुसार प्रभारी मंत्री महोदय के आदेश के बावजुद अनेक अध्यापक मूल स्थान पर ही पदस्थ है होकर भारी उन्हें जानबुझकर रिलीव नही करने एवं भाजपा विचारधारा के अध्यापको को लाभ पहुंचाने का दावा किया। जिस पर प्रभारी मंत्री ने तल्ख लहजे में जल्द रवानदगी का इशारा किया।

शर्मा की तुगल मिजाजी की गुंजी बैठक में

बैठक के दौरान यातायात प्रभारी धनंजय शर्मा द्वारा कांग्रेंस कार्यकर्ताओं को वाहन चैकिंग के नामक पर परेशान करने एवं तुगल मिजाजी से व्यवहार करने का आरोप लगाया। अनेक ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्षो ने यह नाराजगी प्रकट की कि भाजपा नेताओ को पुरा रिस्पांस शर्मा द्वारा दिया जाता है लेकिन कांग्रेस नेताओं के फोन रिसीव करना भी यातायात प्रभारी उचित नही समझते है। इस बीच एक ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष ने यातायात प्रभारी के तबादला नही होने पर इस्तीफा देने एवं धरना देने तक की घोषणा बैठक में कर डाली।

खाघ विभाग के गोयल की भी हुई शिकायत

मंदसौर नगर में अनेक राशन दुकानो के संचालन के मामले में भाजपा कार्यकर्ताओं का साथ देने एवं नागरिको को हो रही परेशानियो से भी ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्षो ने अवगत कराते हुये खाघ विभाग में पदस्थ कनिष्ठ अधिकारी श्री गोयल की शिकायत की। इस दौरान कांग्रेस नेताओं ने राशन दुकानो से बंदी लेने एवं भाजपा कार्यकर्ताओं के फायदा पहुंचाने का आरोप भी लगाया।

कार्यकर्ताओं को सेट करने हेतु शेख ने की प्रभावी पहल

ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्षो की बैठक के दौरान मंदसौर नगर पालिका अध्यक्ष एवं शहर ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष मोहम्मद हनीफ शेख ने मंदसौर जिले एवं नगर की शासकिय समितियो में अब तक भाजपा कार्यकर्ताओ के बने रहने पर आपत्ति लेते हुये कार्यकर्ताओ को सेट करने हेतु विभिन्न समितियो में मनोनयन का आग्रह प्रभारी मंत्री महोदय से किया। श्री शेख ने पशुपतिनाथ प्रबंध समिति, नालछा माता समिति एवं नगर पालिका में एल्डरमेन बनाने हेतु आग्रह किया। इस पर प्रभारी मंत्री श्री कराडा ने सभी नेताओं को जल्द समन्वय बनाकर नाम देने हेतु कहा।

ब्लॉक अध्यक्षो के अलावा ये नेतागण थे उपस्थित

बैठक के दौरान पूर्व विधायक नवकृष्ण पाटील, जिला कांग्रेस अध्यक्ष प्रकाश रातडिया, सुवासरा विधायक हरदीपसिंह डंग, पूर्व मंत्री प्रतिनिधि के रूप में सोमिल नाहटा, प्रदेश कांग्रेस महामंत्री मुकेश काला, राजेश रघुवंशी, महेन्द्रसिंह गुर्जर, परशुराम सिसोदिया, श्यामलाल जोकचंद्र उपस्थित हुये।