शिवराज के पंद्रह वर्षो के शासकाल में मंदसौर नगर की अवैध कॉलोनीवासियो का जीवन नारकीय हुआ- श्री भाटी



मंदसौर। मध्यप्रदेश में लगातार सत्ता में रहने के बावजुद भाजपा एवं उनके जनप्रतिनिधियो ने आम नागरिको की चिंता करने की बजाय मात्र जमीन कारोबारियो के हितो का संरक्षण किया है। शिवराजसिंह चौहान सरकार के पंद्रह सालो मे अवैध एवं अविकसित कॉलोनियो को वैध करने की प्रक्रिया करना तो दूर उल्टे शिवराज मामा के शासनकाल में अवैध कॉलोनियो की संख्या लगातार बढी है। मंदसौर नगर में सत्तर से अधिक अवैध कॉलोनियो के निवासियो द्वारा भरपुर वोट भाजपा को देने के बावजुद मूलभूत समस्याओं से जनता जुझ रही है। कमलनाथजी के 15 माह के शासनकाल में अवैध कॉलोनियो को वैध करने की प्रक्रिया शुरू की किन्तु भाजपा ने पर्दे के पीछे से उस प्रक्रिया को न्यायालय में याचिका लगवाते हुये रूकवाने का कार्य था।
़़़़़़़़़ यह बात जिला कांग्रेस प्रवक्ता एवं राष्ट्रीय मजदूर कांग्रेस अध्यक्ष सुरेश भाटी ने प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से कही। उन्होनें कहा कि मंदसौर नगर एवं जिले में काफी संख्या मे अवैध कॉलोनियॉ है, उन कॉलोनियो के आकार लेने से लेकर उन क्षे़त्रो में मूलभूत सुविधाये देने के मामले में भाजपा के जनप्रतिनिधि विफल साबित हुये है। उन्होनें मंदसौर नगर की अवैध कॉलोनियो के विकास के लिये कारगर योजना नही बनाने का आरोप लगाते हुये कहा कि इन कॉलोनियों पेयजल पाईप लाईन, नाली निर्माण से लेकर सडको का अभाव है जिसमें मात्र कुछ कॉलोनियो में राजनैतिक लाभ हानि के अनुसार कार्य कर जनप्रतिनिधि अपने दायित्वो की इतिश्री कर रहे है।
श्री भाटी ने मंदसौर नगर की अवैध कॉलोनी वासियो की समस्याओ को गंभीर बताते हुये कहा कि लगातार इन कॉलोनियो से नपा चुनाव में भाजपा जीत हासिल करती रही लेकिन भाजपा के अध्यक्ष एवं पार्षदो ने अवैध कॉलोनियो की सुध लेने की बजाय जमीन कारोबारियो के साथ गठजोड की नीति अपनायी जिसके चलते मंदसौर नगर की अवैध कॉलोनिया विकास के पथ पर आगे नही बड पायी है।