कोविड-19 के नियमों का पालन करते हुए उपचुनाव होंगे संपन्न
स्टैंडिंग कमिटी एवं मीडिया कर्मियों के साथ बैठक संपन्न


मंदसौर। कलेक्टर श्री मनोज पुष्प की अध्यक्षता में स्टैंडिंग कमेटी एवं मीडिया कर्मियों के साथ संयुक्त बैठक सुशासन भवन स्थित सभाकक्ष में आयोजित की गई। बैठक के दौरान सभी मीडिया कर्मियों को उपचुनाव के संबंध में जानकारी प्रदान की गई। बैठक के दौरान उन्होंने बताया कि उपचुनाव के दौरान कोविड-19 के नियमों का अक्षरशरू पालन किया जाएगा। सभी राजनीतिक लोग भी आचार संहिता के नियमों का कड़ाई से पालन करेंगे। पूर्व में सुवासरा विधानसभा क्षेत्र में 303 मतदान केंद्र थे जो कि बढ़कर अब 388 हो गए हैं। चुनाव आयोग के द्वारा जो मापदंड बनाए गए, उनका पालन किया जाएगा। सुवासरा विधानसभा क्षेत्र में 40 सेक्टर बनाए गए हैं। 10 के आसपास मतदान केंद्रों पर एक सेक्टर बनाया गया है। 388 मतदान केंद्रों को सुधारने के लिए सभी सेक्टर अधिकारी नियुक्त किए गए हैं। प्रशिक्षण, जागरुकता, मतदान सभी के लिए ईवीएम अलग-अलग रहेगी। ईवीएम के बारे में और भी विस्तार से ट्रेनिंग के माध्यम से सभी को बताया जाएगा। अभ्यर्थियों को प्रिंट एवं इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में अलग-अलग तारीखों में तीन बार अपने अपराधिक रिकॉर्ड प्रकाशित करने होंगे। दिव्यांग, 80 वर्ष से ऊपर के मतदाता एवं कोरोना के मतदाताओं को डाक मतपत्र से मतदान करने की सुविधा रहेगी। चुनाव के दिन सभी मतदाताओं की स्क्रीनिंग की जाएगी। सुवासरा विधानसभा क्षेत्र में वर्तमान में 2 लाख 59 हजार 839 मतदाता हैं। जिसमें से 3 हजार 59 दिव्यांग मतदाता है। बैठक के दौरान कलेक्टर श्री मनोज पुष्प, सीईओ जिला पंचायत से ऋषव गुप्ता, अपर कलेक्टर श्री बीएल कोचले, राजनीतिक दलों के प्रतिनिधि, पत्रकार उपस्थित थे।
ग्राम नीमथुर में ग्रामवासियो को जल गुणवत्ता परीक्षण करने का प्रशिक्षण दिया गया
मंदसौर। ग्रामीण क्षेत्र में ग्रामवासियो को स्वच्छ जल के महत्व, पेयजल स्त्रोतों से प्राप्त पानी का जल गुणवत्ता परीक्षण करने (ग्राम पंचायत स्तर पर उपलब्ध फील्ड टेस्टिंग किट थ्ज्ज्ञ के माध्यम से) पेयजल स्त्रोतों का नियमित क्लोरीनेशन करने एवं दूषित पानी के पीने से होने वाली बीमारियों व उसकी रोकथाम की जागरूकता के उद्देश्य से मन्दसौर जिले सहित पूरे मध्यप्रदेश में 10 अक्टूबर तक विशेष पेयजल परीक्षण व स्वच्छता पखवाड़ा मनाया जा रहा है। टेस्टिंग किट (थ्ज्ज्ञ) के द्वारा पानी के 8 महत्वपूर्ण पैरामीटर पीएच, फ्लोराइड, नाईट्रेट, फ्री क्लोरीन, टर्बीडीटी, आयरन, हार्डनेस व क्लोराइड का परीक्षण आसान विधियों से रंग पहचानकर किया जा सकता है। टेस्टिंग किट के द्वारा लगभग 100 टेस्ट किये जा सकते है। एच.टू.एस वॉयल के द्वारा बेक्टिरिया परीक्षण भी किया जाता है। इसी क्रम में विभाग के मानव संसाधन विकास जिला सलाहकार श्री मुकेश गुप्ता में भानपुरा विकासखण्ड के ग्राम नीमथुर में ग्रामवासियो को जल गुणवत्ता परीक्षण करने का प्रशिक्षण दिया एवं पेयजल स्त्रोतों को स्वच्छ रखने, पेयजल के समुचित भंडारण व उपयोग, नल-जल योजना के उचित रख-रखाव की समझाईश दी। इस अवसर पर ग्राम पंचायत सचिव श्री श्याम जोशी, हैंडपम्प टेक्नीशियन हरिशंकर भारती द्वारा पेयजल स्त्रोतों का क्लोरिनेश किया गया। अभियान 10 अक्टूबर तक जिले के सभी पांच विकासखण्डो के चयनित ग्रामो में जाकर पेयजल परीक्षण की जागरूकता के लिए प्रचार किया जाएगा। विभाग द्वारा इस पखवाड़े की अवधि में उन ग्रामो का चयन किया गया है। जिनमे जल जीवन मिशन के अंतगर्त इस वर्ष सम्पूर्ण ग्राम के प्रत्येक परिवार को क्रियाशील घरेलू नल कनेक्शन का लाभ दिए जाने की कार्य योजना तैयार की गई है। जिसमें आदर्श ग्राम व गत वर्ष मुख्यमंत्री ग्राम नल जल योजना के अंतर्गत पूर्ण की गई पेयजल योजना वाले ग्राम सम्मिलित है। फोटो संलग्न
उप चुनाव -226 सुवासरा के लिए कंट्रोल रूम स्थापित
कलेक्टर श्री मनोज पुष्प द्वारा बताया गया कि विधानसभा उप निर्वाचन 226-सुवासरा, 2020 के लिए जिला निर्वाचन कार्यालय पर कंट्रोल रूम स्थापित किया गया। जिसका दूरभाष नंबर 07422-235440 एवं 1950 है। कंट्रोल रूम के प्रभारी सुश्री अंकिता प्रजापति डिप्टी कलेक्टर मंदसौर मोबाईल नं. 8305776594, सहायक नोडल अधिकारी श्री प्रकाश डोडवे सहायक श्रम अधिकारी मंदसौर मोबाईल नं. 9752640499 की सहायता हेतु श्री रवि जैन सहायक ग्रेड 3 लेखा शाखा एवं शासकीय सेवकों की ड्यूटी लगाई गई। कंट्रोल रूम पर 15 कर्मचारी की ड्यटी लगाई गयी है। शासकीय सेवकों की कार्य की अवधि तीन शिफ्ट में रहेगी। प्रथम शिफ्ट प्रातरू 7 बजे से दोपहर 3 बजे तक, द्वितीय शिफ्ट दोपहर 3 बजे से रात्रि 11 बजे तक एवं तृतीय शिफ्ट रात्रि 11 बजे से प्रातरू 7 बजे तक कार्य करेगें। प्रत्येक दल प्रति सप्ताह नोडल अधिकारी के निर्देशन में परिवर्तित होगें। कंट्रोल रूम पर आर्दश आचरण संहिता के उल्लघंन की प्राप्त शिकायतों तथा अन्य माध्यमोंध्आयोग स्तर से प्राप्त शिकायतों के त्वरित निराकरण हेतु भी कार्यवाही सुनिश्चित करेगें। नियुक्त दलों के सभी सदस्य कोविड-19 में शासन द्वारा दिये गये निर्देशों का शत-प्रतिशत पालन करेगें।
जिला स्तरीय जल उपयोगिता समिति की बैठक आज
मंदसौर। सचिव जिला स्तरीयय उपयोगिता समिति एवं कार्यपालन यंत्री जल संसाधन श्री एस.के. वाघेला ने बताया कि सिंचाई योजना वर्ष 2020-21 में रबी सिंचाई हेतु कार्य योजना पर जिला स्तरीय उपयोगिता समिति की बैठक आयोजित की गई है। बैठक 29 सितम्बर 2020 को दोपहर 12 बजे सुशासन भवन कलेक्टोरेट कार्यालय मंदसौर में आयोतिज की जाएगी।