शिवराज के तुगलकी फरमानो का विपरित प्रभाव आना शुरू, मंडियो से आउट सोसिंग कर्मचारी 31 से हटेगे-श्री भाटी


राष्ट्रीय कृर्षि बाजार योजना के तहत लगे लगे कर्मचारी होगे बेरोजगार, युवाजन धर्म और कट्टरता की सोच से बाहर निकलकर अपना भविष्य सोचे, कांग्रेस प्रत्याशी श्री पाटीदार को विजय बनाये
मंदसौर। लगातार मध्यप्रदेश सरकार द्वारा मंडी अधिनियम 1972 में संशोधन किये जाने के कारण किसानो एवं मजदूरो पर पडने वाले प्रभावो को लेकर के कृषक वर्ग, मजदूर एवं व्यापारी वर्ग लगातार विरोध कर रह है लेकिन उसके बावजुद भाजपा और उसके सहयोगी संगठन आम नागरिको को इस मामले में गुमराह करते हुये विरोध को दबाने का प्रयास कर रहे है लेकिन अधिनियम के विपरित प्रभाव छुपते नही है। पिछले दिनों मध्यप्रदेश की मंडियो मे आउट सोसिंग से लगे कम्प्यूटर कर्मचारी व अन्य को हटाने क आदेश मंडी बोर्ड द्वारा दिये गये, पहले यह आदेश 16 अक्टोबर से था किन्तु चुनाव में विरोध न हो इसके लिये अब 31 अक्टोबर से ये कर्मचारी हटाये जायेगे जिसके चलते मंदसौर जिले मे लगभग सौ से अधिक कर्मचारियो का रोजगार जाना तय है। युवाजन रोजगार पर संकट को गंभीरता से लेते हुये जिला कांग्रेस अध्यक्ष श्री नवकृष्ण पाटील के नेतृत्व में सुवासरा विधानसभा प्रत्याशी श्री राकेश पाटीदार को विजय बनाने का संकल्प ले।
यह बात जिला कांग्रेस प्रवक्ता एवं इंटक अध्यक्ष सुरेश भाटी ने प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से कही। उन्होनें कहा कि कोरोना काल में शिवराज ने पहले लेबर एक्ट में संशोधन किया जिसके कारण एक सौ पचास से कम मजदूरो वाली इकाई को बंद करने के लिये अनुमति की आवश्यकता नही होगी, इसके अलावा मंडी अधिनियम 1972 में भी बदलाव कर दिया है जिसके कारण मंडी लायसेंस की अनिवार्यता समाप्त करने, मंडी के बाहर कृर्षि उपज खरीदने की प्रक्रिया को शिथिल करना शामिल था। इस अधिनियम में संशोधन के कारण आगामी दिनो में जमाखोरी बढना तय है लेकिन सरकार ने मंडियो में उपज कम आने की संभावना एवं मंडियो की आय प्रभावित होने के चलते आउट सोसिंग से लगे कर्मचारियो को हटाने के नोटिस जारी कर दिये है। पिछले दिनों मध्यप्रदेश मंडी बोर्ड ने आउट सोसिंग से लगे युवा जिसमे अधिकांश कम्प्यूटर आॅपरेटर है हटाये जायेगे। नोटिस में साफ लिखा है कि राष्ट्रीय कृर्षि बाजार के आउट सोसिंग कर्मचारी ( ई नाम) संशोधित मंडी अधिनियम से मंडी की आय प्रभावित होगी ऐसे में आउट सोसिंग कर्मचारियो का रखा जाना संभव नही है। पहले 16 अक्टोबर से हटाने के निर्देश थे किन्तु चुनावी लाभ हानि के चलते सरकार ने पुनः दिनांक 12 अक्टोबर 2020 को पत्र जारी कर 31 अक्टोबर से आउट सोसिंग कर्मचारियो की सेवाये समाप्त करने के आदेश दिये है।
श्री भाटी ने कहा कि प्रतिवर्ष मोदीजी ने दो करोड रोजगार देने का वादा किया था किन्तु केन्द्र और प्रदेश की सरकारो की कार्यप्रणाली से प्रति साल दो करोड से अधिक के रोजगार छिने जा रहे है लेकिन भाजपा ने युवाओ को धर्म एवं मंदिर आदी मुद्दो को गुमराह कर वोट लेने का तानाबाना तैयार कर रखा हैं। उन्होने मंडी बोर्ड द्वारा आदेश को गंभीर बताते हुये प्रभावित कर्मचारियो को भाजपा के जनविरोधी नितियो के खिलाफ एकजुट होने का आव्हान करते हुये सुवासरा विधानसभा में कांग्रेस प्रत्याशी श्री राकेश पाटीदार को विजय बनाने का आव्हान किया हैं।