कोविड-19 में कार्यरत फार्मासिस्ट के नियमितीकरण को लेकर मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौंपा

मन्दसौर। एमपी फार्मासिस्ट एसोसिएशन हर दम हर समय आपके साथ में खड़ा है यह बात आज संघ के प्रदेश अध्यक्ष राजवीर त्यागी आईटी सेल और प्रदेश मीडिया प्रभारी ने प्रदेश के सभी फार्मासिस्ट और अन्य पैरा मेडिकल स्टॉफ के लिये भोपाल में चल रहे आंदोलन में कही।
इस दौरान अपनी बात स्वाथ्य मंत्री प्रभु राम चैधरी के समक्ष रखी गई साथ ही मुख्यमंत्री निवास जाकर ज्ञापन दिया गया। जिसमें कोविड में कर रहे कर्मचारियों की सेवा जारी रखने की मांग कि गयी। एसोसिऐशन ने कहा कि फार्मासिस्ट के हक के लिए चाहे सरकार के साथ जाना पड़े या सरकार के विरूद्ध जाना पड़े हम फार्मासिस्ट के हक के लिए हर तरह से तैयार है यदि मांगे नहीं मानी गयी तो फार्मासिस्ट उग्र आंदोलन करने के लिए विवश होंगे।
एम पी फार्मासिस्ट एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष अमितसिंह ठाकुर ने भोपाल में परेशान हो रहे फार्मासिस्ट साथियों के लिए दुःख व्यक्त करते हुए कहा कि मध्यप्रदेश में 54 डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल, 84 सिविल हॉस्पिटल, 330 सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र, 499 प्राइमरी हेल्थ सेंटर और 10226 स्वास्थ केन्द्र हैं जहा वर्तमान में लगभग 12000 फार्मासिस्ट की आवश्यकता है फिर भी प्रदेश में दिन-प्रतिदिन कोरोना के मरीज बढ़ते ही जा रहे हैं वहीं दूसरी तरफ फार्मासिस्ट एवं अन्य स्टाॅफ को सेवा मुक्त कर देना न्याय उचित नहीं है। कम से कम आगे आने वाले तीन माह तक इन्हें यथावत रखने के लिए प्रदेश सरकार को विचार करना चाहिए।
एसोसिएशन के प्रदेश सचिव दीपक मिश्रा ने कहा कि आए दिन एनआरएचएम के द्वारा हर महीने नया आदेश जारी किया जाता है जिसमें सीधे तौर पर प्रदेश के फार्मासिस्ट को निकाल दिया जाता है जबकि प्रदेश में वैक्सीनेशन का काम शुरू होने जा रहा है ऐसे में बिना फार्मासिस्ट के रजिस्ट्रेशन एवं सहयोग से किसी भी तरह की दवा या वैक्सीन का वितरण या भंडारण किसी और स्टाफ से करवाया जाना सीधे तौर पर ड्रग एंड कॉस्मेटिक एक्ट 1948 का उलंघन है एवं दंडनीय अपराध की श्रेणी में आता है। परन्तु यह दुर्भाग्य है प्रदेश का कि प्रशासनिक अधिकारी अपनी मनमानी कर रहे हैं। साथ ही कहा कि प्रदेश के फार्मासिस्ट साथियों को चिंता करने की आवश्यकता नहीं है एसोसिएशन सदैव आप सभी के साथ खड़ा है जल्द ही इन विषयों पर मुख्यमंत्री माननीय शिवराज सिंह चैहान से मिल कर चर्चा की जाएगी एवं उन्हें अवगत करवाया जाएगा कि प्रदेश में किस तरह आम जन के स्वास्थ के साथ कैसे खिलवाड़ किया जा रहा है और नियमों का सरे आम उलंघन किया जा रहा है।

एक नजर