विधानसभा निर्वाचन मतदान दलों में साढ़े छह हजार से ज्यादा कर्मी सम्मिलित रहेंगे

रतलाम-विधानसभा निर्वाचन 2018 की तैयारियां निरन्तर जारी हैं। निर्वाचन हेतु नियुक्त सभी नोडल अधिकारियों द्वारा अब तक की गई कार्रवाई की समीक्षा एडीएम श्री जितेन्द्रसिंह चौहान ने आज नवीन कलेक्टोरेट कक्ष में की। बताया गया कि विधानसभा निर्वाचन के लिए ईपीडीएस साफ्टवेयर में 10504 अधिकारियों एवं कर्मचारियों की एंट्री कर दी गई है। इनमें 7735 पुरुष तथा 2739 महिला अधिकारी-कर्मचारी सम्मिलित हैं। जिले में विधानसभा निर्वाचन के लिए 1267 मतदान केन्द्रों पर 6819 अधिकारी-कर्मचारी तैनात किए जाएंगे। इसके अलावा 20 प्रतिशत अधिकारी-कर्मचारी रिजर्व स्टाफ के रुप में रहेंगे। मतदान दलों के गठन की कार्यवाही जारी है।
बैठक में एएसपी श्री प्रदीप शर्मा, संयुक्त कलेक्टर सुश्री निशा डामोर, उप जिला निर्वाचन अधिकारी श्री प्रवीण कुमार फुलपगारे, अतिरिक्त सीईओ जि.पं. श्री दिनेश वर्मा, जिला रजिस्ट्रार श्रीमती ऋतम्भरा द्विवेदी, परियोजना अधिकारी जिपं श्री लक्ष्मणसिंह डिंडोर, सहायक संचालक महिला बाल विकास श्री आर.के. मिश्रा आदि उपस्थित थे।
समीक्षा करते हुए अपर कलेक्टर श्री चौहान ने सभी नोडल अधिकारियों को निर्देश दिए कि अपने सेक्शन से सम्बन्धित महत्वपूर्ण आदेश जारी करने में देरी नहीं बरती जाए। जरूरी प्रशिक्षण आयोजित कर लिए जाएं। आदर्श आचरण संहिता के दौरान सभी शिलान्यास, उद्घाटन, लोकार्पण, पत्थरों को ढंक कर रखा जाएगा। पानी के टैंकरों, यात्री प्रतीक्षालयों, पेट्रोल पम्पों तथा ऐसे ही अन्य स्थानों पर राजनीतिक दलों से संबंधित नाम एवं चिन्ह हटाए जाएंगे अथवा ढंक दिए जाएँगे। सम्पत्ति विरूपण की कार्रवाई के दौरान संबंधित थाना प्रभारी को अवश्य सूचित किया जाए ताकि किसी भी विवाद की स्थिति में कानून व्यवस्था का मामला नहीं बने। जहां पहले से ही विवाद का अंदेशा हो, पुलिस फोर्स साथ लेकर जाएं।
बैठक में अपर कलेक्टर ने निर्देश दिए कि जिला आबकारी विभाग अवैध शराब के विरुद्ध प्रभावी कार्रवाई को अंजाम दे। बताया गया कि चुनाव के लिए प्राप्त किए जा रहे अधिकारियों, कर्मचारियों में 836 अधिकारी-कर्मचारी केन्द्र शासन के हैं। जिले के 1836 अधिकारी-कर्मचारी बीमारी तथा अन्य कारणों से मुक्त रखे गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *